You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

Promote start-ups by suggesting new technical resources and innovations

Start Date: 25-05-2022
End Date: 30-06-2022

नवाचारों के बारे में सुझाव देकर स्टार्ट-अप को बढ़ावा देने में ...

See details Hide details


नवाचारों के बारे में सुझाव देकर स्टार्ट-अप को बढ़ावा देने में अपना योगदान दें ।


----

नई स्टार्टअप पॉलिसी लाई मध्यप्रदेश सरकार
उद्यमी बनने का सपना अब होगा साकार

स्टार्टअप का देश में तेजी से फैलाव हो रहा है। छोटे-छोटे शहरों में भी युवा नए-नए आइडिया लाकर अपने स्टार्टअप शुरु कर रहे हैं। स्टार्टअप में 50 से अधिक अलग-अलग तरह की इंडस्ट्रीज जुड़ी हुई हैं। स्टार्ट-अप क्रांति देश को नई ऊंचाइयां तथा पहचान दिला रही है। इस क्षेत्र में मध्यप्रदेश भी तेजी से आगे बढ़ रहा है। इस क्षेत्र को और मजबूत बनाने और ज्यादा से ज्यादा लोगों को स्टार्ट-अप के लिए प्रोत्साहित करने के लिए मध्यप्रदेश सरकार ने अपनी नई स्टार्ट-अप पॉलिसी लॉन्च की है। इस पॉलिसी के अंतर्गत सरकार द्वारा युवाओं को विशेष फंडिंग, लीज और रेंटल सुविधाएं दी जाएगी। इसके साथ ही ज्यादा से ज्यादा बिजनेस इन्वेस्टर को राज्य में लाने की कोशिश की जाएगी.

अपनी स्टार्ट-अप पॉलिसी बनाने वाला मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य है। इस नई स्टार्ट-अप पॉलिसी की कई विशेषताएं हैं जैसे कि —

• इनक्यूबेटर्स को उनके पूरे जीवन काल में उत्थान के लिए 5 लाख रुपए की सहायता दी जाएगी।
• सरकार तकनीकी, स्वास्थ्य, शिक्षा के क्षेत्र में किए गए नए अविष्कारों को पेटेंट कराने के लिए 5 लाख रुपए की सहायता प्रदान करेगी।
• स्टार्ट-अप लगाने वाली मध्यप्रदेश की महिलाओं को 20% की अधिक सहायता प्रदान की जाएगी।
• प्रदेश में स्टार्ट-अप सेंटर की स्थापना की जाएगी जिसमें नए स्टार्ट-अप को मार्गदर्शन एवं तकनीकी सहायता मिल सके। बिजली का बिल भरने में तीन साल तक छूट दी जाएगी।

इस स्टार्ट-अप पॉलिसी का ज्यादा से ज्यादा लोग लाभ उठाएं इसके लिए नागरिकों की सहभागिता भी बहुत जरूरी है।

नागरिक नए तकनीकी संसाधनों और नवाचारों के बारे में अपने सुझाव देकर स्टार्ट-अप को बढ़ावा देने में अपना योगदान दे सकते हैं।

आप अपने सुझाव mp.mygov,in के जरिए नीचे कमेंट बॉक्स में साझा करें।

All Comments
Reset
108 Record(s) Found
277700

Om Rawat 5 months 1 week ago

सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) किसी भी समाज के विकास में एक प्रभावी सूत्रधार के रूप में उभरा है और दुनिया भर की अर्थव्यवस्थाओं के विकास में एक प्रमुख प्रेरक शक्ति है।

बढ़ी हुई दक्षता और उत्पादकता के माध्यम से राष्ट्रीय अर्थव्यवस्थाओं के विकास को आगे बढ़ाने में सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) की भूमिका, और विस्तारित बाजार पहुंच निर्विवाद और अपरिवर्तनीय दोनों है।

8918810

Jay darshan Rawat 5 months 1 week ago

संस्कृत में"उद्यमी"शब्द का अर्थ है आत्मप्रेरणा से "स्व-प्रेरित" के तत्व, अंग्रेजी में "साहसी" और फ्रेंच "पकड़ना" या "नियंत्रण करना" भी हैं। लाखों भारतीय, जो जोखिम उठाते हैं और काम की तलाश में दूर-दूर तक यात्रा करते हैं, उन्हें उद्यमी आत्मानिभर्ता उद्यमिता के एक विशेष विचार पर आधारित है।

इसलिए एक उद्यमी की क्लासिक दृष्टि एक व्यक्तिगत अभिनेता है जो जोखिम लेने, पेशेवरों और विपक्षों का वजन करने, त्वरित निर्णय लेने और बाजार की ताकतों के उतार-चढ़ाव से बाहर निकलते हुए बने रहने में सक्षम है

1288690

Yash Rawat 5 months 1 week ago

अग्निपथ योजना नव युवक एवम् देश के गौरव की बात हैं
इसके फायदे जो हमे अच्छे लगे बात को बताते हैं।
1.सबसे पहले देश की सुरक्षा की बात करे तो नए युवा देश की रक्षा में अच्छा योगदान देगे।
2. देश का युवा 4 साल बाद अनुशासित होकर जब नवसेना से आएगा तो किसी भी विभाग में आगे कार्य कर सकेगा और आपतकाल स्थिति में प्रशीछित युवा अपना योगदान देश में देगा।
3.भारत की सेना में भरपूर साहस होगा और हमेशा युवा भारत की रक्षा व्यवस्थाओं को मजबूत बनाए रखेंगे।

2740

SANDEEPKUSHWAHA 5 months 1 week ago

स्टार्ट अप के लिए पूरी जानकारी कहा से ले सकते है।
और योजनाओं के लाभ लेने के लिए कहा पर आवेदन करना। और कम समय व बिना परेशानी के योजनाओं का लाभ मिल सके।

2740

SANDEEPKUSHWAHA 5 months 1 week ago

स्कूल में बच्चों के लिए शिक्षा के साथ उनके रुचि के अनुसार कार्य करने के लिए मार्गदर्शन कराया जाना चाहिए।

341110

Dr Usha Shukla 5 months 1 week ago

1-लोगों की दीवारों पर चिपका कर गंदगी करने वाले व्यक्ति की जमानत जब्त हो।
2-ऐसे व्यक्ति जो महिलाओं को कमतर दिखाने की कोशिश करें उनकी जमानत जब्त हो।

341110

Dr Usha Shukla 5 months 1 week ago

भारत जैसे विकासशील देश में जनता अपना प्रतिनिधि चुनकर अपने भविष्य को सुनिश्चित करना चाहती है लेकिन...
कल की कौन कहे आज भी कुछ प्रत्याशी अपने प्रचार के लिए लोगों कीमती दीवार गंदी करते हैं और... महिला जाति को कमतर दिखाने की कोशिश कर रहे हैं।